लस्सी और छाछ पीने के फायदे | lassi peene ke fayde

0
408
lassi peene ke fayde

लस्सी जिसे हम आम भाषा में छाछ भी कहते हैं यह हमारी सेहत के बहुत ही अच्छी होती है। लस्सी जहां पचने में हल्की होती है वहीं इसकी तासीर भी ठंडी होती है। यह छोटे- बड़े सभी के लिए बहुत ही अच्छी होती हैं।

जहां दही जिस की तासीर गर्म होती है जो पचने में थोड़ी भारी होती है वहीं छाछ पचने में बहुत ही हल्की होती है। छाछ पीने से खाना हजम हो जाता है। सबसे बड़ी खासियत तो छाछ में यह है कि खाने के बाद अगर छाछ पी जाती है तो खाना तो हजम होता ही है परंतु कब्ज जैसी शिकायत भी दूर हो जाती है।

नित्य प्रति अगर कोई भी व्यक्ति छाछ पीता है तो वह हमेशा स्वस्थ रहता है।

कौन सी छाछ सबसे अच्छी होती है-

दही को अच्छी तरह से मथ कर उसमें से अगर मक्खन निकाल लिया जाता है तो ऐसी छाछ पचने में भी हल्की होती है और सेहत के लिए भी अच्छी होती है। परंतु अगर दही को मथ कर उसमें पानी मिलाकर छाछ बनाई जाती है तो ऐसी छाछ पचने में भारी होती है।

छाछ में थोड़ा सा काला नमक, सूखा हुआ पुदीना, भूना हुआ जीरा, थोड़ी सी काली मिर्च, थोड़ी सी कुटी हुई अदरक और लहसुन मिलाकर इस तरह से छाछ पीते हैं तो ऐसी छाछ सेहत के लिए बहुत ही अच्छी होती है।

छाछ को हम अपने स्वाद के अनुसार मीठा डालकर भी पी सकते हैं। मीठे में अगर हम थोड़ी सी शक्कर जो भूरे रंग की होती है वह डालकर भी पीते हैं तो ऐसी छाछ भी पीने में बहुत ही स्वादिष्ट और सेहतमंद होती है।

छाछ पीने से हमारी पाचन प्रणाली अच्छी तरह से काम करती है और हम सेहतमंद भी बने रहते हैं। गर्मियों में तो छाछ पीना अमृत के समान होता है। जो लोग प्रतिदिन गर्मी के महीने में छाछ पीते हैं तो उन्हें ना तो गर्मी लगती है और लू से भी बचे रहते हैं।

किस समय पीना ज्यादा फायदेमंद होता है –

अगर हम छाछ को दोपहर 12:00 बजे तक पीते हैं तो यह ज्यादा फायदेमंद होती है और यही छाछ अगर हम रात को पीते हैं तो यह हमारी सेहत के लिए फायदेमंद नहीं होती। इसलिए उचित यही है कि दिन के समय ही छाछ पिया जाए तो ज्यादा अच्छा होता है।
इस तरह से छाछ पीना हमारी सेहत के लिए बहुत ही अच्छा होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here